Hindi News

Kamal Nath Accused The Bjp Leadership Of Being Cut Off From The Ground | News18RisingIndia: किसानों से 15 लाख का वादा किया था, दिए सिर्फ 2 हजार रुपए- कमलनाथ

News18RisingIndia: किसानों से 15 लाख का वादा किया था, दिए सिर्फ 2 हजार रुपए- कमलनाथ



News18RisingIndia कार्यक्रम में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कलमनाथ ने भी शिरकत की. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ‘मैटर्स ऑफ द स्टेट’ पर सीएनएन न्यूज18 के भूपेंद्र चौबे से बात की. इस दौरान कमलनाथ ने बीजेपी नेतृत्व पर जमीन से कटे होने का आरोप लगाया. उन्होंने सवाल किया कि कितने कैबिनेट मंत्री ग्रामीण भारत में गए हैं या कितनों ने चुनाव लड़ा है? मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि दिल्ली में बैठकर हमें लगता है कि हम पूरा देश समझते हैं, लेकिन ऐसा नहीं है.

कमलनाथ ने कहा कि किसानों को 6 हजार रुपए सालाना दिए गए और वो भी तीन किश्तों में. जबकि उनसे 15 लाख रुपए देने का वादा किया गया था. बीजेपी पर निशाना साधते हुए कमलनाथ ने कहा कि किसान कर्ज के साथ पैदा होता है और कर्ज में ही मर जाता है. इस सच को हम नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं. चुनाव से 2 महीने पहले किसानों को 2 हजार रुपए भेजने का क्या मतलब है? क्या आपको लगता है कि इस देश के किसान मूर्ख हैं.

सेशन के दौरान बाबा रामदेव भी वहीं मौजूद थे. बाबा रामदेव से पूछा गया कि कांग्रेस और बीजेपी में कौन झूठ बोल रहा है तो रामदेव ने कमलनाथ से सीधे सवाल पूछा, ‘मैं एक गरीब किसान के घर में पैदा हुआ हूं, मैंने किसानी की है. आपने कभी हल चलाया है? आपको पता है कि ये यूरिया और फर्टिलाइजर कब डाला जाता है? कैसे उसमें गोबर डाला जाता है या कैमिकल कैसे डाले जाते हैं?’

कार्यक्रम के दौरान कमलनाथ से सवाल किया गया कि उनकी पार्टी ने आजादी के बाद देश में सबसे लंबे वक्त तक शासन किया, ऐसे में उनका गरीबी मिटाने की बात करना क्या कांग्रेस की इकोनॉमिक पॉलिसी पर सवाल नहीं उठाता है? इस पर कमलनाथ ने सवाल किया कि क्या गरीबी नहीं हटी? क्या आज आपके पास जो सुविधाएं हैं वह पिछले पांच साल में आई? आपने जीरो से शुरुआत नहीं की, हमने जीरो से शुरुआत की थी. आपको यह देखना चाहिए कि आपने कहां से शुरू किया? आज यह कह देना कि 60-70 में कांग्रेस ने क्या किया बेहद गलत है.

(साभार: न्यूज18 हिंदी)




Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button