Hindi News

Digvijay Singh Told Pulwama Terror Attack An Accident Ask Who Is Telling Lie As | दिग्विजय सिंह ने पुलवामा हमले को बताया दुर्घटना, पूछा- एयर स्ट्राइक पर कौन बोल रहा है झूठ

दिग्विजय सिंह ने पुलवामा हमले को बताया दुर्घटना, पूछा- एयर स्ट्राइक पर कौन बोल रहा है झूठ



कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने पुलवामा हमले को दुर्घटना बताकर एक बार फिर विवाद पैदा कर दिया है. दरअसल पुलमावा हमले के जवाब में भारत की तरफ से की गई एयर स्ट्राइक पर विपक्ष के नेता लगातार सवाल खड़े कर रहे हैं. इस लिस्ट में दिग्विजय सिंह का नाम भी शामिल है. वो सरकार से लगातार एयर स्ट्राइक के सबूत मांग रहे हैं.

इस बीच उन्होंने पुलवामा हमले को दुर्घटना बताते हुए ट्वीट किया, पुलवामा ‘दुर्घटना’ के बाद हमारी वायु सेना द्वारा की गई Air Strike के बाद कुछ विदेशी मीडिया में संदेह पैदा किया जा रहा है, जिससे हमारी भारत सरकार की विश्वसनीयता पर भी प्रश्न चिह्न लग रहा है.

कांग्रेस नेता दिग्‍विजय सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री जी आपकी सरकार के कुछ मंत्री कहते हैं 300 आतंकवादी मारे गए. बीजेपी अध्यक्ष कहते हैं 250 आतंकी मारे गए हैं, योगी आदित्यनाथ कहते हैं 400 आतंकी मारे गए और आप इस विषय में मौन हैं.’

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, ‘देश जानना चाहता है कि इसमें झूठा कौन है. मोदी जी सवाल ना सियासत का है ना सत्ता का. सवाल उन बिलखती बहनों का है जिन्होंने अपने भाई खोए हैं सवाल उस मां का है, जिसके लाडले की शहादत हुई है और सवाल उस वीरांगना का है जिसने अपना पति खोया है. इनके सवालों का जवाब आप कब देंगे?’

उन्होंने लिखा है, ‘आपके वरिष्‍ठ नेताऔर आपकी पार्टी, सेना की सफलता को जिस प्रकार से अपनी सफलता साबित कर चुनावी मुद्दा बनाने का प्रयास कर रहे हैं वह हमारे देश के सुरक्षा कर्मियों की बहादुरी और समर्पण का अपमान है. देश का हर नागरिक भारतीय सेना व समस्त सुरक्षा कर्मियों का सम्मान करता है.’

इससे पहले भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) के महासचिव सीताराम येचुरी, कांग्रेस नेता पी चिदंबरम, पश्‍चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी और एचडी कुमारस्वामी समेत विपक्ष के कई नेता सरकार से एयर स्ट्राइक को लेकर सवाल पूछ चुके हैं और मोदी सरकार से एयर स्‍ट्राइक के सबूत देने की मांग की है.




Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button