Hindi News

Narendra Modi Says People Who Want Proof Of Air Attack Making Pakistan Happy | एयर स्ट्राइक के सबूत मांगने वाले पाकिस्तान को खुश कर रहे हैं: पीएम मोदी

एयर स्ट्राइक के सबूत मांगने वाले पाकिस्तान को खुश कर रहे हैं: पीएम मोदी



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष पर बालाकोट हवाई हमले का सबूत मांगकर पाकिस्तान को ‘खुश’ करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि जनता का उन पर ‘भरोसा’ ही सबूत है.

पीएम मोदी ने कहा ‘क्या आप (जनता) ऐसा कुछ करेंगे जिससे पाकिस्तान खुश हो या पाकिस्तान ताली बजाए? लेकिन विपक्ष के हमारे कुछ नेता पिछले दस दिनों से यही काम कर रहे हैं. इन लोगों को पहचानिए, इन्हें देश की चिंता नहीं है, बल्कि ये लोग जेल जाने से डरे हुए हैं, यही कारण है कि वे केंद्र की सत्ता पर काबिज होना चाहते हैं.’

हवाई हमले के बाद पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता के एक ट्वीट का उल्लेख करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि ‘क्या पाकिस्तान मूर्ख है जो यह कहेगा कि हम पर हमला हुआ? लेकिन ये हमारे ही लोग हैं जो सबूत मांग रहे हैं. विपक्षी दल साफ तौर पर सुन लें,130 करोड़ लोगों का भरोसा ही सबूत है. कृपया पाकिस्तान को खुश करने का खेल बंद कीजिए.’

पाकिस्तान के बालाकोट में पिछले हफ्ते भारतीय वायुसेना के हवाई हमले और इसमें मारे गए आतंकियों की संख्या को लेकर विपक्ष केंद्र से जानकारी देने की मांग कर रहा है. प्रधानमंत्री ने कहा कि बीजेपीनीत सरकार ने हवाई हमले का कोई श्रेय नहीं लिया. पीएम मोदी ने कहा ‘हाल के हवाई हमले के बाद आपने ध्यान दिया होगा कि भारत सरकार इसके बारे में खामोश थी. लेकिन हवाई हमले के बाद हम सोए नहीं थे, यह चौकीदार जाग रहा था. हमने ऐसी बहादुरी का प्रदर्शन किया, लेकिन हम शांत थे और कोई श्रेय नहीं लिया. यह पाकिस्तान था जिसने पहले ट्वीट किया और सुबह पांच बजे से ही चिल्लाना शुरू कर दिया. यह पाकिस्तान था जिसने भारत के साहसिक कदम के बारे में बताया.’

मोदी ने कहा कि 2008 में मुंबई में आतंकी हमले के बाद पूर्व की सरकार ने कुछ नहीं किया. अगर लोग ऐसी घटनाओं का ऐसा ही जवाब चाहते तो वे उन्हें (मोदी को) नहीं चुनते. उन्होंने कहा ‘जब आतंकवादियों ने पुलवामा में हमारे 40 जवानों को मार डाला तो क्या मोदी को चुप रहना चाहिए था? अगर पहले की सरकार की तरह मैंने बर्ताव किया होता तो लोग मुझे क्यों चुनते?’

पुलवामा में सीआरपीएफ की बस पर जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे. उन्होंने आरोप लगाते हए कहा कि विरोधी दल के नेताओं को देश की चिंता नहीं है. उन्होंने ये भी सवाल किया कि जो आतंकी हमला हुआ उसके बाद मोदी अगर चुप बैठता तो क्या अच्छा लगता? उन्होंने ये भी सवाल किया कि क्या देश की जनता को भारतीय सेना पर भरोसा है? क्या हर हिंदुस्तानी नहीं चाहता कि पाकिस्तान और आतंकवाद को सबक सिखाया जाए? उन्होंने कहा कि नामुमकिन को मुमकिन बनाने का नाम मोदी है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि पूर्व की सरकारों ने नामुमकिन शब्द दोहराते हुए कदम पीछे खींचने का काम किया. नामुमकिन से मुमकिन बनाने का साहस भी उन्हें देश की जनता से ही मिला है. केंद्र में सरकार के आने के बाद देश के हर वर्ग के प्रति अनेक कल्याणकारी योजनाओं की ना केवल शुरूआत की, बल्कि हाल में बड़ी तादाद में किसानों के बैंक खातें में पहली किश्त भेजने का काम किया. दूसरी किश्त भी किसानों के बैंक खाते में भेजने की तैयारी है. लेकिन इस पूरे काम में दूर तक ना कोई बिचैलिया है और ना ही मलाई खाने वाला.




Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button